DIRECTOR’S DESK

DIRECTOR’S DESK

दुनिया भर में संग्रहालयों की अवधारणा में बदलाव आया है। दुनिया भर में समकालीन संग्रहालयों के वर्तमान रुझान पिछले कुछ वर्षों में काफी बदल गए हैं। अब, संग्रहालय अपने संस्थान को समुदायों के एक अभिन्न अंग के रूप में फिर से तैयार करने का प्रयास करते हैं, अपने संग्रहालय को और अधिक समावेशी बनाते हुए संग्रहालय की जगह की कल्पना और सुनिश्चित करके अपनी अवधारणा को बदल देते हैं जहां अधिक से अधिक सार्वजनिक भागीदारी को प्रोत्साहित किया जाता है ताकि संग्रहालय को और अधिक इंटरैक्टिव बनाया जा सके साथ ही दर्शक केंद्रित। इलाहाबाद संग्रहालय न केवल अपने समृद्ध और विविध कलाकृतियों के संग्रह के लिए जाना जाता है बल्कि इसे एक ऐसे संस्थान के रूप में स्वीकार किया जाता है जो आपको अपने दोस्तों, पड़ोसियों से मिलने, विचारों और विचारों पर चर्चा करने और समुदाय का सक्रिय हिस्सा बनने की अनुमति देता है। हमारे संग्रहालय में आयोजित होने वाली कलाकृतियों और कार्यक्रमों के बीच एक सहजीवी संबंध रहा है।

(सुनील गुप्ता)